स्वास्थ्य

वजन कम करने और इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करता है इमली, जानें इसके फायदे

इमली (इमली) चटपटी होने के कारण स्वादिष्ट होती है। कई लोग इसकी चटनी (चटनी) बनाकर खाना पसंद करते हैं, तो कई लोग अपने भोजन का स्वाद चटपटा करने के लिए इसे खाने में डालते हैं। हालांकि, स्वाद बढ़ाने के साथ साथ यह शारीरिक स्वस्थ्य के लिए गुणकारी औषधि (चिकित्सा) के रूप में भी काम करता है। यह वजन कम (Weight Lose) करने में रामबाण औषधि है, साथ ही यह इम्यूनिटी बूस्टर (Immunity Booster) का काम भी करता है। आइए जानते हैं कि यह किस प्रकार से शरीर के लिए फायदेमंद है।

इमली के औषधीय गुण

इमली में कई फाइटोकेमिकल्स तत्व पाए जाते हैं, साथ ही यह एंटीबैक्टीरियल, एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी फ्लेमेटिक जैसे गुणों से भरपूर होता है। इमली खाने से लीवर और दिल संबंधी परेशानियां भी दूर हो जाती हैं। कई गुण होने के कारण बेहतरीन जड़ी बूटी है।वजन में कमी

वजन कम करने के लिए इमली एक बेहतरीन आयुर्वेदिक औषधि है। कई शोध में यह पाया गया है कि इमली के बीज में ट्रिप्सिन इन्हिबिटर (एक तरह का प्रोटीन) के गुण होते हैं। शोध में यह भी पाया गया कि इमली के बीज में पाया जाने वाले कुछ गुण हाई ब्लड शुगर, हाई-कोलेस्ट्रॉल, हाई बीपी, हाई ट्राइग्लिसराइड्स और मोटापा संबंधी सभी समस्याओं को दूर करने की क्षमता रखता है। यह भूख को कम करने में सक्षम है, जिससे वजन कम करने में मदद मिल सकती है।

मजबूत बनाए इम्यून सिस्टम

myUpchar के अनुसार, इमली में काफी मात्रा में विटामिन-सी और पॉलीसैकेराइड तत्व पाए जाते हैं, जो प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में महत्वपूर्ण है। वैज्ञानिकों द्वारा किए गए अध्ययनों में यह पता चला है कि इमली के बीज में पाए जाने वाले पॉलीसैकेराइड में इम्यूनोमॉड्यूलेटरी गुण भी होते हैं, जो शरीर को रोगों से लड़ने की क्षमता को बढ़ाते हैं।

परिष्करण प्रक्रिया में इमली के फायदे

इमली में कुछ ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो पाचन को बेहतर करने का कार्य करते हैं। साथ ही इसके सेवन से कब्ज, एसिडिटी, गैस या अल्सर जैसी समस्याएं भी दूर हो जाती हैं।

डायबिटीज में इमली का सेवन

इमली के बीज में काफी मात्रा में पॉलीफेनोल और फ्लेवोनोइड तत्व पाए जाते हैं। इसके अलावा इमली के बीज के अर्क में एंटी-डायबिटिक गुण पाए जाते हैं, जिससे ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद मिल जाती है।

गर्भवती महिलाएं इसलिए पसंद करती हैं इमली

myUpchar के अनुसार, इमली में काफी मात्रा में विटामिन सी होता है और विटामिन सी शरीर में आयरन की आपूर्ति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। गर्भवती महिलाओं में हीमोग्लोबिन की पूर्ति के लिए संतुलित मात्रा में आयरन जरूरी होता है। यही कारण है कि गर्भवती महिलाओं को विटामिन सी से भरपूर खट्टी चीजें ज्यादा दी जाती हैं।अधिक जानकारी के लिए हमारा कलात्मक, इमली के फायदे और नुकसान पढ़ें। न्यूज 18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखित जाते हैं। स्वास्थ्य से संबंधित खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और चिकित्सक, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़े सभी बदलाव आते हैं।




Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button