स्वास्थ्य

जानें इम्युनिटी बूस्टर के रूप में काढ़ा पीने के लिए क्या करें और क्या नहीं

पूरी दुनिया में पिछले 7 महीने से कोरोनावायरस (कोरोनावायरस) के साए में जी रही है। कोविद -19 (कोविद -19) महामारी का खतरा लगातार बढ़ रहा है। वर्तमान वायरस के खिलाफ अभी भी वैक्सीन (वैक्सीन) का लंबा इंतजार कर रहा है। इधर, आयुष मंत्रालय (आयुष मंत्रालय) और स्वास्थ्य विशेषज्ञ लगातार इम्यूनिटी को बढ़ाने (इम्युनिटी बढ़ाने) पर जोर दे रहे हैं। वहीं, वायरस की शुरुआत से ही एर्णिक रूप में काढ़ा (कड़ा) को इम्यूनिटी बूस्टर के रूप में देखा जा रहा है। हम आपको बताते हैं कि काढ़ा पीने के लिए आप लोगों को किन-किन चीजों का ख्याल रखना चाहिए, जिससे आप पर कुर्बानी न पड़े।

गलत तरीके से काढ़ा पीने के कुरूप
यह सब जानते हैं कि किसी भी चीज का जरूरत से अधिक सेवन हानिकारक होता है। यही बात काढ़े पर भी लागू होती है। काढ़े को ज्यादा उबालना और बार-बार इसका सेवन करना भी आपको खतरे में डाल सकता है। इससे आपको यूरिन संक्रमण, मुंहासे, अम्लता, शरीर से गर्मी पैदा होना, त्वचा में सूखापन और मुंह में छाले जैसी शिकायतें हो सकती हैं। यदि आप अपनी इम्यूनिटी को वास्तव में बढ़ाना चाहते हैं तो ये आसान से टिप्स से आप सही मात्रा और तरीके से काढ़े का सेवन कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: क्या सच में कोरोनावायरस से लड़ने में मदद कर रहा है इम्यून सिस्टम?काढ़ा को कम उबालें

जैसा आपको पहले ही बताया जा चुका है कि काढ़े को ज्यादा उबालने से उसका प्रभाव कम हो जाता है। काढ़े को ज्यादा उबालने की स्थिति में यह कड़वा हो जाएगा जिससे आपको पेट में जलन और एसिडिटी की समस्या हो सकती है।

दिन में पियून आधा कप काढ़ा
क्या आप भी उन लोगों में शामिल हैं जो दिन में तीन बार काढ़े का सेवन कर रहे हैं? यदि हां, तो ऐसा करना तुरंत बंद कर दें। आपको बता दें कि उस दिन में आधे कप से ज्यादा काढ़े का सेवन न करें, लेकिन सर्दियों में आप दिन में दो कप काढ़ा पी सकते हैं।

श्रंगी जड़ी-बूटियों मिलाएं हैं
यह बहुत जरूरी है कि काढ़े में ठंडी जड़ीबूटियों का मिश्रण करें। इससे आपको कोई परेशानी नहीं होगी। इसके लिए आप अपने काढ़े में नद्यपान, इलायची और गुलाब की पंखुड़ियां को शामिल कर सकते हैं।

ठंडी चीजों का करें सेवन
काढ़ा शरीर में गर्मी पैदा करता है जिससे त्वचा सूखने लगती है और चेहरे पर मुंहासे निकल आते हैं। इससे बचने के लिए आप पूरे दिन संतरा, केला और अंगूर जैसे ठंडे पैरों का सेवन कर सकते हैं।

नियमित रूप से पानी पिएं
काढ़े की तासीर बहुत गर्म होती है जो पेट में कई तरह की समस्याएं पैदा कर सकती हैं। तो याद रखें कि अगर काढ़े का सेवन कर रहे हैं तो आप पेट की समस्या से बचने के लिए पुदीना और नारियल पानी का सेवन कर सकते हैं। इससे आपके पेट के अंदरुनी सिस्टम को ठंडक मिलेगी।

ये भी पढ़ें – न्यूमोकोकल लगवाते समय ये साइड इफेक्ट्स का ध्यान रखें

नियमित रूप से काढ़ा न पिएं
काढ़ा हालांकि कोरोनावायरस और अन्य बीमारियों के खिलाफ लड़ने में मदद करता है लेकिन आप इसका सेवन लंबे समय तक नियमित रूप से न करें। तीन सप्ताह के नियमित सेवन के बाद आप दो सप्ताह तक के लिए काढ़े का सेवन बंद कर दें और फिर इस पुन: प्रारंभ करें।(अस्वीकरण: इस लेख में दी गई जानकारी और सूचना सामान्य जानकारी पर आधारित हैं। हिंदी समाचार 18 इनकी पुष्टि नहीं करता है। ये पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)।




Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button