देश

असम: सीईओ ने राज्यपाल को दी सूची, सीएम के चेहरे पर सवाल असम: चुनाव आयोग ने राज्यपाल को सौंप दिया नवनिर्वाचित विधायकों की सूची, मुख्यमंत्री के नाम पर सस्पेंस

गुवाहाटी: असम के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) नितिन खाडे ने मंगलवार को राज्यपाल जगदीश मुखी से भेंट की और उन्हें अगले विधानसभा के नवनिर्वाचित 126 सदस्यों की सूची सौंपी। भाजपा इस चुनाव में विजयी बनकर उभरी है लेकिन उसने अभी तक राज्यपाल से प्रस्तुतकर सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया है। चुनाव का परिणाम दो मई को घोषित कर दिया गया था।

राज्यपाल को सौंपी गई विधायकों की लिस्ट

सरकारी प्रविष्टियों के अनुसार खाडे ने निर्वाचन आयोग के वरिष्ठ मुख्य सचिव नरेंद्र एन बुटोलिया की हस्ताक्षर वाली कॉपीराइट लिस्ट सौंपी है। राज्यपाल ने दो, पांच और 12 मार्च को तीन चरणों के चुनाव के लिए अधिसूचनाएं जारी की थी और उनके अनुसार 126 सदस्यीय विधानसभा के निर्वाचन के लिए 27 मार्च, एक अप्रैल और छह अप्रैल को मतदान हुआ था।

बीजेपी और सहयोगियों ने जीटीआई को 75 अंक दिए

सत्तारूढ़ भाजपा और उनके सहयोगी दलों ने 75 सीटें जीती हैं जबकि विपक्षी महागठबंधन को 30 सीटें मिली हैं। इस महागठबंधन में कांग्रेस, एआईयूडीएफ और अन्य अन्य दल थे। नवगठित पार्टी राइजोर दल के अध्यक्ष अखिल गोगोई ने बतौर निर्दलीय चुनाव जीता है।

अगला मुख्यमंत्री कौन होगा?

निर्वाचन आयोग ने एक आदेश जारी कर आदर्श आचार संहिता भी हटा ली। अब इस बात की अटकलें हैं कि निवर्तमान मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ही अगले मुख्यमंत्री होंगे या फिर उनके मंत्री हिमंत बिस्व सरमा सरकार के मुखिया होंगे।

सरकार गठन में थोड़ा विलंब होगा

सरमा ने मंगलवार को संवाददाताओं से कहा कि सरकार का गठन में ‘थोड़ी देरी’ होगी क्योंकि भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों द्वारा भाजपा कार्यकर्ताओं पर कथित रूप से हमला किए जाने के बाद पश्चिम बंगाल में हैं। भाजपा ने इस बार किसी नेता का नाम मुख्यमंत्री पद के लिए पेश नहीं किया था। वर्ष 2016 के चुनाव में सोनोवाल इस पद के लिए पार्टी का चेहरा थे।

Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

please disable the AdBlock