स्वास्थ्य

प्रेगनेंसी को लेकर कंफ्यूज है? घर पर ही ऐसे करें प्रेगनेंसी टेस्ट

घरेलू उपाय से ऐसे करें प्रेग्नेंसी टेस्ट

प्रेग्नेंसी (गर्भावस्था) हार्मोन एचसीजी सुबह अपने उच्चतम स्तर पर होता है, इसलिए यह समय परीक्षण का सबसे अच्छा समय होता है। लेकिन हम उन घरेलू चीजों की बात करेंगे, जिनकी मदद से प्रेग्नेंसी का पता लगाया जा सकता है।

  • आखरी अपडेट:7 नवंबर, 2020, 6:59 AM IST

माँ बनना हर महिला के लिए एक सुखद अहसास है। किसी महीने मासिक धर्म का न आना गर्भावस्था का पहला संकेत है। यूं तो बाजार में कई टेस्ट किट मौजूद हैं लेकिन घरेलू प्रेग्नेंसी किट्स को महिलाएं दशकों से इस्तेमाल कर रही हैं। आधुनिक प्रेग्नेंसी टेस्ट किट्स से पहले घरेलू उपायों के जरिये प्रेग्नेंसी की जांच की जाती थी। आप गर्भवती हैं या नहीं, इस बात की पुष्टि के लिए कई घरेलू चीजों की मदद ली जा सकती है। myUpchar के अनुसार, प्रेग्नेंसी टेस्ट में मूत्र या खून में प्रेग्नेंसी हार्मोन ‘ह्यूसमैन कोरिओनिक गोनाडोट्रैपिन’ (एचसीजी) का पता लगाया जाता है। यदि गर्भावस्था होगी, तो एचसीजी हार्मोन का स्तर बढ़ेगा। आमतौर पर प्रेग्नेंसी हार्मोन एचसीजी सुबह अपने स्तर पर होता है, इसलिए यह समय परीक्षण का सबसे अच्छा समय होता है। लेकिन हम उन घरेलू चीजों की बात करेंगे, जिनकी मदद से प्रेग्नेंसी का पता लगाया जा सकता है।

बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा या सोडियम बाइकार्बोनेट एक ऐसा घटक है, जो खमीरी रोटी बनाने के लिए विशेष रूप से उपयोगी है। अविश्वसनीय रूप से बेकिंग सोडा का इस्तेमाल घर पर गर्भावस्था के परीक्षण के लिए भी किया जा सकता है। घर पर परीक्षण करने के लिए एक कटोरे में 2 चम्मच बेकिंग सोडा लें और इसमें मूत्र की कुछ बूंदें डालें। अगर बेकिंग सोडा मूत्र के साथ प्रतिक्रिया करता है तो यह गर्भवती होने का संकेत हो सकता है।

विनेगरविनेगर यानी सिरका एसिड का एक रूप है, जो डाइल्यूट और चीनी व्यंजनों में उपयोग किया जाने वाला एक महत्वपूर्ण घटक है। विनेगर का इस्तेमाल प्राकृतिक रूप से गर्भावस्था के परीक्षण के लिए भी किया जा सकता है। इसके लिए आप सफेद विनेगर का उपयोग कर सकते हैं, जो किसी भी किराने की दुकान में कम कीमत और आसानी से उपलब्ध हो सकता है। एक कटोरे में थोड़ा विनेगर लें, इसमें मूत्र की कुछ बूंदे मिली हैं। अगर मिश्रण में पानी उठते हैं तो थोड़ा देर और रूकें, क्योंकि अगर इसका रंग बदल जाता है तो इसका मतलब है कि आप प्रेग्नेंट हैं और अगर रंग वैसा ही रहता है तो प्रेग्नेंट नहीं हैं।

चीनी

चीनी का उपयोग काफी पहले से प्रेग्नेंसी के परीक्षण के लिए किया जा रहा है और यह सबसे आम नेचुरल प्रेग्नेंसी टेस्ट है। इस परीक्षण के लिए एक कटोरे में पहले मूत्र की बूंदे लें। इसमें 2-3 लैंग चीनी मिलाए गए हैं और इसे लैंग लैंग दिया गया है। अगर प्रेग्नेंट हैं तो मूत्र में एचसीजीरम चीनी अणुओं के साथ प्रतिक्रिया करेंगे और इसके कारण यह गुठलीदार रूप में बदल जाएगा।

टूथपेस्ट

टूथपेस्ट प्राकृतिक रूप से प्रेग्नेंसी टेस्ट के लिए एक आधुनिक घटक है, क्योंकि यह सदियों पहले नहीं था। इस परीक्षण के लिए केवल सफेद टूथपेस्ट का इस्तेमाल किया जाता है, क्योंकि रंगीन टूथपेस्ट में अतिरिक्त तत्व होते हैं, जो सटीक परिणाम में परिवर्तन कर सकते हैं। एक कप में मूत्र संबंधी, बहुत कम मात्रा में टूथपेस्ट डाल दें। ब्रश की मदद से इसे मिलाएं। यदि मूत्र में मौजूद एचसीजी टूथपेस्ट के साथ खुलेपन करता है, तो झाग आने लग जाएगा या फिर रंग नीला हो जाएगा।

ब्लीच

यह प्रेग्नेंसी टेस्ट की सबसे सही परिणाम देने वाली तकनीक माना जाता है। एक कटोरी में मूत्र लिंग और इसमें थोड़ी मात्रा में ब्लीच मिलाएं। अगर ज़ैग बन जाता है तो प्रेग्नेंसी है। इस टेस्ट में इस बात का विशेष ध्यान रखना होगा कि यह टेस्ट को खुली जगह करें क्योंकि ब्लिच की वजह से गैस बनती है जिससे घुटन हो सकती है। (अधिक जानकारी के लिए हमारा कलात्मक, प्रेगनेंसी टेस्ट कब और कैसे करें पढ़ें।) (न्यूज 18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखित जाते हैं। स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और चिकित्सक, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़े सभी परिवर्तनों के बारे में आते हैं।)

टीकाकरण: इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ विशेष स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहाँ बताया गया है तो जल्द ही जल्द ही डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही न्यूज़पेपर जिम्मेदार होगा।




Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button